ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
आलेख
June 5, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

विश्वयुद्ध कोरोना में हर कोई सम्राट सेवक सेनापति सेनानी

🔴 सुशीला रोहिला, सोनीपत हरियाणा ।

 प्रथम विश्व युद्ध के बाद वर्तमान समय में बिना अस्त्र- शस्त्र का एक ऐसा युद्ध शुरू हुआ है जिसकी समाप्ति की कोई अवधि नहीं है । चाहे बूढ़ा हो या जवान युवा या व्यस्क सभी को अपने आगोश में लेता और पूरी दुनिया के मानव समाज के लिए अभिशाप बना हुआ है । खौफ और भय के कोरोना को जो मानव अपने मन में इसको शरण देता है वह अपनी प्राण शक्ति खो देता है । 

प्रत्येक मानव इस युद्ध में सम्राट, सेनापति,  सेनानी है और उसके पास चतुरंगी सेना है ।

1 प्रथम सेना है साबुन से हाथ धोना और सेनेटाइज लगाना ।

2 द्वितीय सेना नाक और मुख को मास्क लगाकर ढ़कना ।

3 तृतीय सेना सोशल डिसटेनस या सामाजिक दूरी बनाना ।

4 चौथी सेना आपको घर पर ही रहना । यदि आवश्यक कार्यहेतु ही घर से मास्क लगाकर बाहर निकलना ।

यदि आपके पास चारों सेना का सैन्य बल तो कोरोना वायरस पर विजय पा सकते है ।

कोरोना विश्व युद्ध में प्रत्येक सेनानी को अपनी सुरक्षा रूपी सेना पर ध्यान देना होगा वही सुरक्षा कोरोना रूपी शत्रु को मार सकती है। 

सेवक :कोरोना युद्ध में वे सेवक जो सुरक्षा के नियम का पालन कर स्वयं और राष्ट्र तथा विश्व को सुरक्षित करते है । वे सच्चे देशभक्त भी है । राष्ट्र से हम बने है राष्ट्र हमसे नहीं । डाॅक्टर , नर्स ,पुलिसकर्मी सेवा संस्थान, सफाई कर्मचारी, नेतागण, योगाचार्य , आयुर्वेदा आदि । सभी अपने माध्यम से कोरोना मरीजों की सेवा में लगे है  और महान सेवक जिन्होंने इस कोरोना महामारी में सेवा करते अपने प्राण न्यौछावर किए है उनकी सदा जय होगी ।