ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
अन्य राज्यों में फंसे उत्तराखण्ड के लोगों को वापस लाया जाये
April 25, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

उक्रांद ने राज्यपाल को ज्ञापन भेज कर उठाई मांग

हमारे संवाददाता /देहरादून | उत्तराखण्ड क्रान्तिदल के केन्द्रीय प्रवक्ता सुनील ध्यानी ने कोरोना वायरस से बचाव को लागू लाॕकडाउन के कारण अन्य राज्यों में फंसे उत्तराखण्ड के लोगों को सुरक्षित वापस लाने की मांग राज्‍यपाल से     की है |

श्री ध्यानी ने राज्यपाल को भेजे ज्ञापन में कहा कि  विदित है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी बन चुकी है। मानव  जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है, जिसके लिये इंसान को खुद इस महामारी से बचना होगा। इसके लिये केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकारें दिशा निर्देश दे रहे हैं। उत्तराखंड राज्य पलायन के कारण पहाड़ी क्षेत्र शून्य पड़े है, राज्य का नवयुवक रोजी रोटी के लिये प्रदेश से बाहर अन्य जगहों में प्राइवेट सेक्टर के अंतर्गत अपना जीवन यापन कर रहे थे, लेकिन कोरोना महामारी के कारण सब चीजें ठप होने के कारण अन्य प्रदेशो में उत्तराखंड के  हजारों की संख्या में पंजाब,गुजरात, मध्य प्रदेश,दिल्ली, राजस्थान,उड़ीसा, आदि जगह फंसे हैं। उनके आगे रोजी रोटी संकट बना हुआ है। सभी को कोरोटाइन में भेड़ बकरियों की तरह रखा गया है।बीमार न होकर भी बीमारी की हालात में है, लेकिन उत्तराखंड सरकार को इन लोगों की कोई सुध नही है, लॉकडाउन के दौरान अन्य प्रदेशों के लोग जो उत्तराखंड में थे उनको भेजने के लिये राज्य सरकार सरकारी गाड़ी से मुफ्त में भेज तो रही है लेकिन जो हमारे लोग है उनको लेकर राज्य सरकार संवेदनशील नही है। ज्ञापन के माध्यम से उत्तराखंड क्रान्ति ने मांग की किअन्य प्रदेशों में जो उत्तराखंडी लॉकडाउन के कारण फंसा है उन सभी को राज्य में लाने के लिये उत्तराखंड सरकार को दिशा निर्देश दें।