ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
भाई से झगड़ा होने पर युवक गंगनहर में कूदा, तलाश जारी
July 30, 2020 • Naresh Rohila

भारत नमन ब्यूरो /हरिद्वार। भाई से झगड़ा होने के बाद एक कर्मचारी ने प्रेम नगर पुल से गंगनहर में कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने जल पुलिस की मदद से बुधवार को कर्मचारी की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया। शाम तक कर्मचारी का कुछ पता नहीं चल सका है। ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी के मुताबिक शिवालिक नगर रानीपुर निवासी विशाल दिक्षित 23 पुत्र सतीश चंद्र पेशे से सिडकुल की कंपनी में काम करते थे। बीते मंगलवार की रात मामूली बात को लेकर कर्मचारी विशाल का बड़े भाई अभिषेक से झगड़ा हो गया। इससे नाराज होकर विशाल अपने दोस्त के साथ घर से चला गया और मंगलवार की रात को अपने दोस्त के सामने ही प्रेम नगर पुल से विशाल में गंगनहर में छलांग लगा दी। सूचना मिलते ही ज्वालापुर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन रात होने के कारण पुलिस ने अभियान नहीं चलाया। बुधवार को जल पुलिस की मदद से तलाश अभियान चलाया गया हैं। कोतवाल प्रवीण कोश्यारी ने बताया कि बताया कि कर्मचारी मूल रूप से प्रतापपुर काशीपुर का रहने वाला हैं। लापता कर्मचारी की तलाश की जा रही हैं।

बस की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

हरिद्वार। जौलीग्रांट अस्पताल से अपने घर लक्सर लौट रहे युवक की मिस्सरपुर के पास सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। सामने से आ रही बस की बाइक सवार से टक्कर हुई थी। पुलिस ने बस को अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस के मुताबिक सोसायटी रोड लक्सर निवासी आदित्य कुमार 30 पुत्र साहब सिंह बीते मंगलवार को अपने एक रिश्तेदार के साथ बाइक से देहरादून स्थित जौलीग्रांट अस्पताल गए थे। देर शाम को वहां से वापस आते समय मिस्सरपुर के पास सामने से आ रही बस से उनकी भिड़ंत हो गई। दुर्घटना में आदित्य गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस घायल को पास के ही एक निजी अस्पताल में ले गई। जहां देर रात को उपचार के दौरान खरीदते की मौत हो गई। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल की मोर्चरी में भिजवा दिया है। जगजीतपुर चौकी प्रभारी राजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि आदित्य पैसे से सीसीटीवी लगाने का काम करते थे। बताया जा रहा है कि गड्ढे से बचने की कोशिश की तो आदित्य सामने से आ रही बस की चपेट में आ गए।

हत्या मामले में फरार आरोपियों की तलाश में दबिश 

हरिद्वार। ज्वालापुर में तीन दिन पहले खूनी संघर्ष के दौरान हत्या के मामले में फरार चल रहे आरोपितों की तलाश में पुलिस ने मंगलौर जाकर उनकी रिश्तेदारी में दबिश दी, लेकिन आरोपित हाथ नहीं आ सके। पुलिस ने रिश्तेदारों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है।बीते शनिवार को ज्वालापुर के मोहल्ला पांवधोई में दीवार में रोशनदान लगाने को लेकर दो पक्षों में विवाद हुआ था। झगड़े के दौरान इरफान अंसारी की मौत हो गई थी। पुलिस ने नईम व नसीम, नसीम के बेटे नावेज, फईम, खुशनवाज, वसीम उर्फ सोनू, अलीम और भतीजे शाहिद के खिलाफ हत्या, जानलेवा हमला, बलवा आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। सोमवार को पुलिस ने वसीम और फईम को गिरफ्तार कर लिया। बाकी फरार आरोपितों का कुछ पता नहीं चल पाया है। मंगलवार की रात पुलिस को सूचना मिली कि आरोपित मंगलौर में अपनी रिश्तेदारी में छिपे हैं। इस पर एक पुलिस टीम ने मंगलौर जाकर छापा मारा, लेकिन आरोपित हाथ नहीं आ सके। पुलिस मंगलौर से कुछ रिश्तेदारों को उठाकर पूछताछ के लिए ज्वालापुर ले आई। ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि फरार आरोपितों की तलाश जारी है। उनके परिचितों व रिश्तेदारों से पूछताछ कर पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है।

नौ पेटी अंग्रेजी शराब सहित दो गिरफ्तार 

हरिद्वार। पथरी थाना क्षेत्र के गांव अम्बुवाला स्थित चौराहे से पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान एक कार से नौ पेटी अंग्रेजी शराब के साथ दो लोगों को पकड़ा है। शराब शाहपुर से हरिद्वार बिक्री के लिये ले जाई जा रही थी। पकड़े गाड़ी को सीज कर दोनों आरोपियों के खिलाफ आबकारी अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार मुखबिर ने बताया कि शाहपुर स्थित एक शराब की दुकान से कुछ लोग कार में शराब लेकर हरिद्वार की ओर निकले है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने फेरुपुर पुलिस चैकी व अम्बुवाला स्थित तिराहे पर वाहन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया। कुछ देर बाद एक सफेद रंग की कार स्कोडा शाहपुर की ओर से आती नजर आई। पुलिस ने बेरिकेट की मदद से कार को रोक लिया। कार की तलासी लेने पर उसके अंदर से नौ पेटी इंग्लिश शराब बरामद हुई। पुलिस पूछताछ में कार में सवार दो व्यक्तियों ने अपना नाम प्रदीप निवासी गजा चंबा टिहरी गढ़वाल और शिव बहादुर ग्राम जगतपुर जनपद बरेली बताया। पुलिस ने कार को सीज कर दोनों आरोपियों के खिलाफ आबकारी अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसओ पथरी सुखपाल सिंह मान ने बताया अंग्रेजी शराब ले जाते दो व्यक्तियों को कार के साथ पकड़ा है।

15 लाख की धोखाधड़ी में दो के विरुद्ध मुकदमा

हरिद्वार। एक कम्पनी के संपदा अधिकारी के साथ धोखाधड़ी कर दो युवकों ने नो क्रेडिट कार्ड से 15 लाख रुपए उड़ा दिए। इस संबंध में नगर कोतवाली में दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज मामले की जांच शुरू कर दी है। नगर कोतवाली पुलिस के मुताबिक पंकज सोम पुत्र योगेन्द्र सिंह निवासी मोहल्ला लक्ष्मी नगर सूरज कुण्ड रोड मेरठ हाल कैला गली भूपतवाला हरिद्वार ने शिकायत देकर बताया कि अमित शर्मा पुत्र इलम चंद निवासी रामपुरी कोतवाली मुजफ्फरनगर यूपी उसकी बहन-बहनोई के परिचित हैं। अमित ने दिसंबर 2018 को चार दिनों के लिए उधर 2.75 लाख मांगे थे। जिसके विश्वास पर पकंज सोम ने 1.75 लाख अमित शर्मा के खाते में डाले गये और 1 लाख नगद दिया गया। अप्रैल 2019 को उसके पास आकर दो दिनों के लिए 14 लाख 50 हजार मांगे गये। जिसपर उन्होंने खाते में पैसे न होने की बात कहते हुए पैसे देने से इंकार कर दिया। लेकिन क्रेडिट कार्ड होने की बात कहते हुए उसमें अच्छी खासी लिमिट होने की जानकारी दी। जिसपर विश्वास करते हुए पंकज ने विभिन्न बैंकों के 9 क्रेडिट कार्ड उसके हवाले कर दिया। अमित शर्मा ने उन क्रेडिट कार्ड से मुजफ्फरनगर और दिल्ली में स्वैप कराकर 14. 50 लाख रुपए निकाल लिए। अमित शर्मा डेढ़ माह बाद अपनी माता जी के साथ उसके घर हरिद्वार पहुंचा और क्रेडिट कार्ड वापस करते हुए दोनों ने भरोसा दिलाया कि वह उनका सारा पैसा पैनल्टी के साथ एक माह के भीतर लौटा देंगे लेकिन कई माह बीतने के बाद भी अमित शर्मा ने अपने वायदे के अनुसार उनके पैसे नहीं लौटाये। 14 दिसम्बर 2019 को एक नोटरी समझौता हुआ। 28 फरवरी 20 तक बैंक पैनल्टी सहित देने की बात कही गयी। आरोप है कि इसी बीच अमित शर्मा अपने साथी यजुवेन्द्र सिंह मान के साथ उसके आवास पर पहुंचे और उसका गिरेबान पकड़ कर गाली गलौच करते हुए मारपीट करते पैसे मांगने पर जान से मारने की धमकी देकर भाग गये। नगर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अमरजीत सिंह ने बताया कि एक कम्पनी के सम्पदा अधिकारी ने मुकदमा दर्ज कराया हैं।