ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
चिरविरोधी भी अटल जी की बात को गम्भीरता से सुनते थे : प्रेमचंद
August 16, 2020 • Naresh Rohila

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को दूसरी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि 

एसके विरमानी /ऋषिकेश 16 अगस्त।रेलवे रोड स्थित बीजेपी कार्यालय में आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी  की द्वितीय पुण्यतिथि पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष  प्रेमचंद अग्रवाल एवं प्रतिनिधियों व कार्यकर्ताओं द्वारा उनके चित्र पर पुष्पांजलि देकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि अटल जी ने जीवन पर्यन्त राष्ट्रहित को सर्वोपरि माना। अटल जी के व्यक्तित्व का आकर्षण ऐसा था कि उनके चिरविरोधी, जिनका उनसे वैचारिक मतभेद था, वे भी उनका हृदय से सम्मान करते थे। श्री अग्रवाल ने कहा कि ओजस्वी वक्ता होने के कारण विरोधी भी उनकी बात गम्भीरता से सुनते थे।उन्होंने कहा कि भले ही आज अटल जी इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन वह अपने विचारों के माध्यम से हमेशा हमारे बीच जीवित रहेंगे।

उनका राजनीतिक जीवन दर्शन

हमारे लिए प्रेरणास्रोत : कुसुम 

भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि आज भी ऐसा लगता है कि अटल जी हमारे बीच में हैं। उनका राजनीतिक जीवन दर्शन, हमारे लिए प्रेरणास्रोत है। 

ऋषिकेश मण्डल अध्यक्ष दिनेश सती ने कहा कि अटल जी ने जिस विचारधारा के साथ कार्य किया, उसका अनुसरण कर हमें आगे बढ़ना होगा।

इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष कुसुम कंडवाल, मण्डल अध्यक्ष दिनेश सती, महामंत्री सुमित पंवार, इंद्र कुमार गोदवानी, जयंत किशोर शर्मा, ऋषि राजपूत, नितिन सक्सेना, ज्योति सहगल आदि मौजूद थे ।

उत्तराखंड को अलग राज्य बनवाने में वाजपेयी की अहम भूमिका 

इसके अलावा विधानसभा अध्यक्ष ने बैराज स्थित कैंप कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की द्वितीय पुण्य तिथि पर उनके चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने देश को शिखर पर ले जाने के लिए इतनी दृढ़ता के साथ फैसले लिए कि उनके बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

 विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने कहा कि उत्तराखंड से विशेष लगाव होने के नाते उत्तराखंड की जनता सदैव उनकी आभारी रहेगी। उत्तराखण्ड को अलग राज्य के रूप में स्थापित करने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी, उन्होंने ही उत्तराखण्ड राज्य के गठन को मंजूरी दी थी। अटल जी ने उत्तराखण्ड को विशेष राज्य का दर्जा देते हुए विशेष औद्योगिक पैकेज भी स्वीकृत किया।अटल जी के विचार व आदर्श हमें सदैव प्रेरणा देते रहेंगे।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वे देश के पहले विदेश मंत्री थे जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में हिंदी में भाषण दिया। पोखरण में सफलतापूर्वक परमाणु परीक्षण कराकर पूरी दुनिया में भारत की अटल मजबूती का संदेश दिया।श्री अग्रवाल ने कहा कि पाकिस्तान के साथ कारगिल युद्ध में अटल जी के दृढ़ नेतृत्व में भारतीय सेना ने अद्वितीय पराक्रम का परिचय देते हुए पाकिस्तानी घुसपैठियों का पूरी तरह से सफाया कर दिया। श्री अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने राजनीति में पारदर्शिता का काम किया है। उन्होंने अखंड भारत का सपना देखा था। अनुच्छेद 370 हटाकर एवं अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का शिलान्यास कर केंद्र सरकार ने उनको सच्ची श्रद्धांजलि दी है।

इस अवसर पर नगर निगम पार्षद शिव कुमार गौतम ने कहा कि अटल जी एक कवि, एक मंत्री, एक राजनेता, एक पीएम के रूप में हमेशा अटल रहे हैं। मूल्यों औऱ आदर्शों के लिए वो हमेशा प्रतिबद्ध थे।अटल जी का पूरा जीवन निर्धनों व वंचितों की सेवा के लिए समर्पित रहा।

इस अवसर पर पार्षद शिव कुमार गौतम, वरिष्ठ भाजपा नेता सरदार बलविंदर सिंह, जगदंबा सेमवाल, हरीश पैन्यूली उपप्रधान छिद्दरवाला, बंटी मैठाणी, अशोक भूमिया सहित अन्य लोग उपस्थित थे।