ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
डीआईजी ने कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों की समीक्षा की
June 6, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

 

एसके विरमानी /देहरादून। कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु पुलिस द्वारा की जाने वाली व्यवस्थाओं के दृष्टिगत आज पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा पुलिस कार्यालय देहरादून में जनपद के सभी राजपत्रित अधिकारियों के साथ गोष्ठी आयोजित की गयी। गोष्ठी के दौरान पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरूण मोहन जोशी ने संक्रमण फैलने के खतरे को रोकने हेतु पुलिस द्वारा अब तक उठाये गये कदमों तथा थाना स्तर पर पुलिस कर्मियों द्वारा संक्रमण से बचाव हेतु अपनाये जा रहे उपायों की समीक्षा की। बैठक में पुलिस उपमहानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि लाक डाउन के दौरान पूर्व में सरकार द्वारा जिन व्यवसायिक सेवाओं के संचालन को प्रतिबन्धित किया गया था, उन्हें केन्द्र सरकार द्वारा जारी किये गये अनलाॅक प्रोगाम के तहत धीरे-धीरे खोला जा रहा है तथा जल्द ही होटल, माॅल, पब्लिक ट्रांसपोर्ट सहित अन्य व्यवसायिक गतिविधियो के संचालन को भी प्रारम्भ किया जायेगा, जिससे सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की आवाजाही में वृद्धि होने के साथ-साथ वायरस के संक्रमण का खतरा भी बढेगा, जिसके दृष्टिगत ऐसे सभी सार्वजनिक स्थानों, औद्योगिक क्षेत्रों व ऐसे स्थानों जहां पर सामूहिक क्रिया कलापों के कारण लोगों की आवाजाही होने से उनके संक्रमित होने की सम्भावनाएं अधिक हों, को चिन्हित करते हुए एक विस्तृत कार्ययोजना बनाये जाने की आवश्यकता है।  ऐसे सभी स्थानों पर आम जनमानस की आवाजाही को प्रतिबन्धित नहीं किया जा सकता, परन्तु संक्रमण के खतरे को कम करने के लिये व्यवस्था बनायी जा सकती है। प्रथम चरण में ऐसे सभी स्थानों को चिन्हित किया जायेगा, तदनुसार द्वितीय चरण में उक्त स्थानों पर संक्रमण के फैलने के खतरे को रोकने/ कम करने हेतु एक विस्तृत कार्ययोजना तैयार करते हुए उसका अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा। उक्त कार्ययोजना के क्रियान्वयन के दौरान आम जनता को साथ लेकर लोगों के मध्य एक सुरक्षात्मक माहौल तैयार किया जायेगा, जिससे उनका संक्रमण से बचाव सुनिश्चित करते हुए उन्हें अनावश्यक परेशानियों से बचाया जा सके। इसके लिये जनता का सहयोग अपेक्षित रहेगा, परन्तु जिन स्थानों पर कार्ययोजना के क्रियान्वयन हेतु सख्ती की आवश्यकता होगी, वहां सख्त कदम उठाये जायेंगे तथा नियमों का पालन नहीं करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। हमारा उद्देश्य प्रत्येक व्यक्ति के अन्दर अपनी दैनिक दिनचर्या के दौरान स्वयं उक्त नियमों का पालन करने का भाव पैदा करना है, जिससे किसी नियम का उल्लंघन करने पर उन्हें स्वयं अपनी गलती का एहसास हो तथा वह नियमों का पालन कर स्वंय सुरक्षित रहते हुए अन्य व्यक्तियों को भी संक्रमण के खतरे से दूर रख सके। उक्त कार्ययोजना को तैयार करने का मुख्य उद्देश्य सार्वजनिक स्थल पर नियमो का पालन करवाते हुए ऐसे स्थानों पर किसी ऐसे व्यक्ति, जिसे संक्रमण हो परन्तु उसे इसकी जानकारी न हो, के जाने से वहाँ मौजूद अन्य व्यक्तियों तक संक्रमण के फैलने को रोकना है। इस दौरान उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अपने अधीनस्थ नियुक्त अधिकारियो/कर्मचारियों को स्वयं भी उक्त नियमों का सख्ती से अनुपालन करने हेतु निर्देेशित करें, ताकि संक्रमण के खतरे से बचाव के साथ-साथ आम जन-मानस के समक्ष एक उदाहरण पेश करते हुए उन्हें भी नियमों का पालन किये जाने हेतु प्रेरित किया जा सके। अपने कर्तव्यों के दौरान सभी पुलिस कर्मी अति उत्साह से बचें तथा संक्रमण के खतरे को किसी भी दशा में नजर अंदाज न करें।