ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
गैरसैंण में युवा विधानसभा के चतुर्थ सत्र का आनलाइन शुभारम्भ
November 6, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

विस अध्यक्ष ने 70 विधायकों को गोपनीयता की शपथ दिलाई 

भारतनमन / देहरादून 6 नवम्बर।युवा आह्वान संस्था के माध्यम से आज उत्तराखंड युवा विधानसभा के चतुर्थ सत्र का उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष  प्रेम चंद्र अग्रवाल ने ऑनलाइन शुभारंभ किया।इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने सदन में उपस्थित 70 विधायकों को गोपनीयता की शपथ दिलायी।

बता दें 6 से 9 नवम्बर तक गैरसैंण में युवा विधानसभा आयोजित हो रही है उसमें प्रदेशभर से आने वाले सभी 70 युवाओं को जो युवा विधायक की भूमिका में नजर आएंगे उन्हें ऑनलाइन विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल द्वारा संबोधित किया गया। युवा विधानसभा सत्र के दौरान उत्तराखंड के ज्वलन्त मुद्दों,और विधेयकों के पक्ष विपक्ष को समझने का युवा प्रयास करेंगे ।विगत वर्षों से इस कार्यक्रम के माध्यम से युवाओं को विधायी प्रक्रिया समझाने सिखाने का काम युवा आह्वान संस्था कर रही है।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है कि मुख्यमंत्री  ने गैरसेंण ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाकर एक ऐतिहासिक फ़ैसला लिया है इसको सजने, संवारने का काम युवाओं के हाथ पर है।उन्होंने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सभी युवा ही आगे चलकर राज्य और देश के उत्थान में अपना योगदान देंगे । श्री अग्रवाल ने कहा की इस सदन के युवा विधायकों से मेरी आशा है कि उत्तराखंड के समाज के स्वभाव, संस्कृति और परिस्थितियों को ध्यान में रखकर इस युवा सदन में संवैधानिक परिचर्चा करें।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि युवा आह्वान संस्था राज्य के युवाओं को मंच देकर उनकी प्रतिभा और नेतृत्व क्षमता को उभारने का काम कर रही है । श्री अग्रवाल ने कहा कि पिछले चार सालों से उत्तराखंड युवा विधानसभा जैसी एक पहल करके प्रदेश के युवाओं को सदन संचालन की और नीति निर्माण की कार्यविधि, प्रश्नकाल,शून्यकाल,तारांकिक प्रश्न ,बिल पर बहस करना से रूबरू करवाने का काम संस्था कर रही है।वो बहुत ही सराहनीय है ।

इस अवसर पर युवा आह्वान संस्था के अध्यक्ष प्रकाश गौड़ ने कहा कि उत्तराखंड के नौजवान नेता और नेत्री एकजुट होकर यहाँ पर लोकतांत्रिक परिचर्चा करनेआये हैं। इस सदन में आगामी चार दिनों में अनेक मुद्दों और विधेयकों पर बात करेंगे, संविधान और संविधान संशोधन के बारे में सीखेंगे एवं अपने राज्य की संस्कृति सभ्यता की बात करेंगे।

इस अवसर पर रोहित ध्यानी निदेशक, मनमोहन फर्स्वाण, केशव उनियाल, संकित राणा, दीक्षा कंडारी, अरुण नेगी, लुसुन टोडरिया सहित अन्य लोग उपस्थित थे।