ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
गरीबों, श्रमिकों को खाद्यान्न सामग्री की कमी न होने दें: रेखा आर्य
April 7, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

प्रभारी मंत्री ने कोरोना बचाव के लिए व्यवस्थाओं की समीक्षा की 

जनपद में बाहर से आने वालों की कड़ी निगरानी करने को भी कहा

भारत नमन ब्यूरो /बागेश्वर | जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण कोविड़-19 के रोकथाम एवं नियत्रण हेतु की गयी व्यवस्थाओं के संबंध में जिले की प्रभारी मंत्री / राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), महिला कल्याण एवं बाल विकास, पशुपालन, मत्स्य उत्तराखंड सरकार श्रीमती रेखा आर्या ने जिला कार्यालय सभागार में जिला प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ विभाग तथा संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।
 बैठक में  प्रभारी मंत्री ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दियें कि लॉकडाउन की अवधि में जनपद के किसी भी गरीब व्यक्ति एवं ऐसे असंगठित मजदूर जिनके पास राशन कार्ड एवं परिचय पत्र उपलब्ध नहीं हैं, तथा लॉकडाउन के कारण बेरोजगार हो गयें हैं ऐसे श्रमिकों को किसी भी दशा में खाद्यान्न की कोई कमी नहीं होनी चाहिए इसके लिए उन्होंने निर्देश दियें कि ऐसे लोंगो को चिन्हित करते हुए उन्हें तहसीलवार खाद्यान्न के पैकेट तैयार करते हुए लॉकडाउन की अवधि तक सभी को पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाय, इसमें किसी  प्रकार की कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने यह भी निर्देश दियें हैं कि जनपद में बाहर से आने व्यक्तियों पर कडी निगरानी रखते हुए उनके स्वास्थ परीक्षण के ठोस इंतजाम कियें जाय, तथा जो लोंग होम कोरोनटार्इन में हैं उनकी भी लगातार निगरानी करने के निर्देश दियें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दियें हैं कि जनपद के चिकित्सालयों में सभी स्वास्थ संबंधी व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाय, तथा चिकित्सालय में आवश्यक उपकरण, तथा मॉस्क, सेनेटाईजर तथा सोडियम हाईपों क्लोराइड की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिये हैं कि इस कार्य में जो भी अधिकारी एवं कर्मचारी कार्य कर रहें हैं वे सामाजिक दूरी बनायें रखते हुए अपना भी स्वास्थ का ख्याल रखते हुए कार्य करें तथा सभी जनपदवासियों को भी सामाजिक दूरी बनायें रखने के लिए जागरूक करें, सामाजिक दूरी बनायें रखने से ही कोरोना वायरस संक्रमण पर हम विजय पा सकते हैं, इसके लिए यह जरूरी हैं कि हम सभी को संवेदनशीलता से कार्य करने की आवश्यकता हैं। उन्होंने नगर क्षेत्र एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भी साफ-सफार्इ पर विशेष ध्यान देने को कहा तथा साफ-सफाई  में लगें कार्मिको को सेनेटाईजर एवं मॉस्क इत्यादि उलब्ध कराने के निर्देश दियें। तथा सभी क्षेत्रों में सेनेटाईजर एवं सोडियम हाईपों क्लोराइड, फिनायल आदि का भी छिडकाव करने के भी निर्देश दियें। मंत्री ने कोरोना वायरस संक्रमण के संबंध में सोशल मीडिया में अभद्र टिप्पणी व अफवाहों को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक को ऐसे लोंगो पर प्राथमिकी दर्ज कराते हुए उनके विरूद्ध कडी कार्रवाई सुनिश्चित की जाय। उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं नियत्रण के लिए गांव-गांव में भी व्यापक प्रचार-प्रसार करायें तथा सभी लोंगो को इस संक्रमण के संबंध में जागरूक करें तथा लॉकडाउन के समय सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का सभी से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। बैठक में मंत्री ने जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं नियत्रण के लिए की गयी तैयारियों एवं व्यवस्थाओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि जिला प्रशासन द्वारा बेहतर ढंग से कार्य किया जा रहा हैं, तथा बाबा बागनाथ की कृपा से जनपद में कोई भी व्यक्ति अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित नहीं हुआ हैं, इसके लिए सभी अधिकारी एवं कर्मचारी जिस लगन एवं इच्छाशक्ति से अपने दायित्वों का निवर्हन कर रहें हैं, आगे भी इसी प्रकार अपने दायित्वों का निवर्हन करने को कहा।

बैठक में जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए की गयी तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के संबंध में प्रभारी मंत्री को अवगत कराया कि सभी जनपद में सभी व्यस्थाओं को सुनिश्चित करायें जाने हेतु अलग-अलग तरह के टीमों का गठन किया गया हैं, तथा बाहर से आने वाले व्यक्तियों के चिन्हिकरण एवं कोरोनटार्इन के लिए उपजिलाधिकारियों को जिम्मेदारी सौपी गयी हैं, तथा जिला चिकित्सालय में आइसोलेशन वार्ड के साथ सभी  स्वास्थ व्यवस्थायें सुनिश्चित करायी गयी हैं, तथा सभी चिकित्सालयों में 18 थर्मामीटर उलब्ध हैं तथा पर्याप्त माात्रा में मॉस्क, सेनेटाईजर भी उपलब्ध हैं। जनपद में अंसगठित श्रमिकों एवं गरीब व्यक्तियों को राशन उपलब्ध कराये जाने हेतु टीमों का गठन किया गया हैं जिनके माध्यम से राशन  किट उपलब्ध करायें जा रहें हैं। जनपद स्तर पर बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर कडी निगरानी रखने हेतु जिला स्तर पर 02 कंट्रोल रूम स्थापित कियें गयें हैं इसके अतिरिक्त पुलिस विभाग द्वारा भी इन व्यक्तियों पर निगरानी रखने हेतु पृथक से कंट्रोल रूम स्थापित किया गया हैं। जिनके माध्यम से होम एवं संस्थागत कोरोनटार्इन कियें गयें व्यक्तियों से लगातार संपर्क कर उनकी स्वास्थ की जानकरी प्राप्त की जा  रही हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में कार्य कर रहें सभी आंगनबाडी, आशा कार्यकत्रियों, पुलिस, एसडीआरएफ, होमगार्ड व पीआरडी के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया गया हैं, तथा नगर पालिका एवं जिला पंचायत द्वारा नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक सफार्इ अभियान चलाया जा रहा हैं तथा नगर पालिका द्वारा 06 हजार लीटर सोडियम हार्इपों क्लोराइड़ का क्रय किया जा चुका हैं। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय में आने वाले मरीजों को लॉकडाउन के समय कोर्इ परेशानी न हों इसके लिए जिला चिकित्सालय में मरीजों को घर तक छोडने के लिए 02 वाहनों की व्यवस्था की गयी हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत जनपद में 05 होटलों का अधिग्रहण किया गया हैं इसके अतिरिक्त जनपद के सभी कुमांऊ  मंडल विकास निगम के पर्यटक आवास गृह, जिला पंचायत के डाक घर को भी अधिग्रहण किया गया हैं इस प्रकार जनपद में वर्तमान तक कोरेनटाईन हेतु 995 बैंड तैयार कियें गयें हैं। जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा हैं जिसमें परगनावार टीमों का गठन करते हुए अब तक जनपद में 15 हजार पोस्टर भी चस्पा कियें जा चुकें हैं। जिलाधिकारी ने यह भी अवगत कराया कि जनपद में खाद्यान्न की किसी प्रकार की कोई कमी नहीं हैं। बैठक में जिलाध्यक्ष भाजपा शिव सिंह बिष्ट, अध्यक्ष जिला पंचायत बंसती देव, विधायक कपकोट बलवंत सिंह भौर्याल, अध्यक्ष नगर पालिका सुरेश खेतवाल, पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल, मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0पंत, अपर जिलाधिकारी राहुल कुमार गोयल, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बी0एस0रावत, जिला विकास अधिकारी के0एन0तिवारी, जिला पूर्ति अधिकारी अरूण कुमार वर्मा, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी देवेन्द्र नाथ गोस्वामी, अपन मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 वी0के0सैक्सेना, डॉ0 एन0एस0टोलिया, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी शिखा सुयाल सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहें।