ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
हरिद्वार में दो स्वास्थ्य कर्मचारियों के कोरोना पाॅाजीटिव मिलने से प्रशासन की चिंता बढी
May 27, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

जनपद में कोरोना पाॅाजीटिव की संख्या 16 हुई

श्रवण कुमार झा की रिपोर्ट /हरिद्वार।  कल दो स्वास्थ्य कर्मचारियों सहित पांच कोरोना वायरस पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन की टेंशन बढ गयी है।  इसके साथ ही जनपद में कुल मरीजों की संख्या 16हो गयी है,जबकि पांच रूद्रप्रयाग के पाॅजिटिव मरीज सहित सभी 20मरीज को यहां मेला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक का उपचार दून के अस्पताल में चल रहा है।। मंगलवार को मिले पांच पाॅजिटिव मरीज में से दो मरीजों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है,चूंकि दो स्वास्थ्य कर्मी शामिल है। एक स्थानीय व्यक्ति के अलावा दो मरीज हाल में मुंबई से आए थे। अस्पताल कर्मियों और स्थानीय व्यक्ति में संक्रमण कहां से आया यह स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता का विषय बन गया है। अधिकारियों का कहना है कि पॉजिटिव आए स्थानीय व्यक्तियों की हिस्ट्री निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं। जनपद में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही प्रशासन ने सर्तकता बढ़ा दी है। कल दस नये मरीजों की पुष्टि की गयी,इनमें पांच हरिद्वार जनपद तथा पांच रूद्रप्रयाग जनपद के रहने वाले है। स्वास्थ्यकर्मी के पाॅजिटिव पाये जाने के बाद जिला अस्पताल का सेनेटाइज कराया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के अनुसार जनपद में मंगलवार को पांच नये कोरोना संक्रमित मिलने के बाद विभाग द्वारा कार्यवाही तेज कर दी गयी है। जनपद के रूड़की,लक्सर,धनौरी,हरिद्वार शहर में मरीज मिलने के बाद कुल 19 कंटेनमेंट जोन बनाते हुए सेनेटाइज किये जाने का कार्य तेज कर दिया गया है। मंगलवार को 52व्यक्तियों के सैम्पल जांच के लिए भेजे गये,इसके साथ ही अब तक करीब दो हजार लोगों के सैम्पल की जांच रिर्पोट का इंतजार है। जनपद में रैपिड जांच किट से 141लोगों की जांच की गई,जिनमें से चार एंटी बाॅडी पाॅजिटिव पाये जाने के बाद उनका आरटी पीसीआर जांच किया जाना शेष है। फिलहाल जनपद के विभिन्न फेसिलिटी केन्द्रों में राज्य के कुल 1100 व्यक्ति भर्ती है।

15 बसों के जरिए उप्र के506, राजस्थान के 13 प्रवासी रवाना

हरिद्वार भल्ला स्टेडियम से दो रोज पूर्व खदेड़े गये उप्र के श्रमिकों को प्रशासन ने उनके गृह जनपदों को भिजवाने की कवायद शुरू कर दी गयी। 14 बसों से 506 प्रवासी भेजे गये। जयपुर राजस्थान के लिये 13 प्रवासियों को लेकर एक बस रवाना हुई। भल्ला स्टेडियम में उप्र के विभिन्न जिलों के श्रमिक करीब एक सप्ताह से जमे थे। वह प्रशासन से घर भिजवाने की मांग कर रहे थे। शारीरिक दूरी मानकों का उल्लंघन होता देख पुलिस ने इन्हें स्टेडियम से खदेड़ दिया था। बसों की व्यवस्था होने तक इन्हें घरों में ही रहने की हिदायत दी गई थी। मंगलवार को सिडकुल आदि विभिन्न थाना क्षेत्रों से प्रवासियों को भल्ला स्टेडियम लाया गया। यहां पर सबको स्क्रीनिग के बाद बसों के जरिए मुजफ्फरनगर भेजा गया।

पश्चिम बंगाल के 290 लोगों को लेकर श्रमिक ट्रेन रवाना 

इस बीच हरिद्वार रेलवे स्टेशन से चली दूसरी श्रमिक ट्रेन से पश्चिम बंगाल के 290 प्रवासि यों को भेजा गया। श्रमिक स्पेशल ट्रेन हरिद्वार रेलवे स्टेशन से शाम करीब चार बजे रवाना हुई। इस दौरान प्लेटफार्म के अलावा ट्रेन में शारीरिक दूरी मानकों का पालन कराया गया। बंगाल जाने वाले प्रवासियों को प्रशासन की ओर से लंच पैकेट भी दिये। लाॅकडाउन के कारण करीब दो महीने से हरिद्वार में फंसे इन बंगाल के प्रवासियों के चेहरे पर घर जाने की खुशी दिखाई दी। लॉकडाउन के चलते उत्तराखंड में हरिद्वार के अलावा दूसरे जनपदों में बड़ी संख्या में पश्चिम बंगाल के प्रवासी फंसे हैं। श्रमिक  से भेजे जाने के पहले चरण में 17 मई को 1148 प्रवासियों को लेकर पश्चिम बंगाल के लिये एक श्रमिक स्पेशल रवाना हुई थी। लेकिन कई प्रवासियों को ट्रेन में जगह न होने के यही रूकना पड़ा था,जिन्हे प्रशासन ने दूसरी ट्रेन से भिजवाने का आश्वासन दिया था। इसी क्रम में मंगलवार को पश्चिम बंगाल मालदा टाउन के लिये श्रमिक ट्रेन भिजवाई गई। रेलवे प्रशासन  के अनुसार रामपुर स्टेशन पर उधमसिंह नगर में फंसे बंगाल के 175 प्रवासी भी इस ट्रेन में सवार होंगे। इस दौरान सीडीओ विनीत तोमर, एडीएम वित्त एवं राजस्व केके मिश्रा, जीआरपी एएसपी मनोज कत्याल, सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल, एसीएमओ डॉ. एचडी शाक्य, बीईओ अजय चैधरी, जीआरपी एसओ अनुज सिंह आदि मौजूद रहे।

788 प्रवासियों को लेकर11वीं श्रमिक ट्रेन हरिद्वार पहुंची1

लाॅकडाउन के दौरान दूसरे राज्यों में फंसे उत्तराखंड के प्रवासियों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। मंगलवार सुबह को तिरुवनंतपुरम केरल से 788 प्रवासियों को लेकर 1वीं श्रमिक स्पेशल हरिद्वार रेलवे स्टेशन पहुंची। श्रमिक ट्रेन में आने वालों में हरिद्वार, चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी के 139 प्रवासियों को शहर के विभिन्न होटलों में क्वारंटाइन किया गया है। बाकी प्रवासियों को रोडवेज बसों के जरिये उनके गृह जनपदों को भेजा गया। मंगलवार को 11वीं विशेष श्रमिक ट्रेन तिरुवनंतपुरम से 788 प्रवासियों को लेकर सुबह करीब बजे हरिद्वार स्टेशन पहुंची। उत्तराखंड के प्रवासियों को लेकर हरिद्वार पहुंची यह 11वीं श्रमिक स्पेशल थी। इससे पूर्व दस श्रमिक स्पेशल से 11037 प्रवासी आ चुके हैं। उत्तराखंड के प्रवासियों में सबसे अधिक चंपावत जिले के 251 और सबसे कम पांच पिथौरागढ़ जिले के हैं। साथ ही, उप्र के मुजफ्फरनगर, शामली और सहारनपुर के आठ प्रवासी पहुंचे। इस दौरान शारीरिक दूरी मानकों का पालन कराते हुए सभी को सेनिटाइज करने और सत्यापन के बाद स्टेशन परिसर में लाया गया। हरिद्वार के 26, चमोली के 31, रुद्रप्रयाग 59 और उत्तरकाशी के 23 प्रवासियों को हरिद्वार के होटलों में क्वारंटाइन किया गया है। अन्य जिले के लोगों को रोडवेज बसों के जरिये उनके गृह जनपदों को भेजा गया। श्रमिक ट्रेन आने वाले प्रवासियों में अल्मो़ड़ा के 25,बागेश्वर के43,चमोली के 31,चम्पावत के 251,देहरादून के23,पौड़ी के26,रूद्रप्रयाग के 59,टिहरी के 147,उधमसिंह नगर के 114,नैनीताल के 7,उत्तरकाशी के 23,हरिद्वार के 26 निवासियों के अलावा सहारनपुर के 05,शामली के 2 व मुज्जफरनगर के एक निवासी भी शामिल है। विशेष श्रमिक ट्रेन के पहुचने पर सीडीओ विनीत तोमर, एएसपी जीआरपी मनोज कत्याल, एडीएम केके मिश्रा, इंडियन रेडक्रास के सचिव डॉ. नरेश चैधरी, स्टेशन डायरेक्टर अतुल शर्मा मौजूद रहे।