ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
जूस जैंकिंग का खतरा बहुत बड़ा, कैसे बचें👇
May 27, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशनों, दुकानों आदि जैसे सार्वजनिक स्थानों पर सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन होते हैं और जब हमारे उपकरणों की बैटरी समाप्त हो जाती है तो हम अक्सर उनका उपयोग करने के लिए बेताब रहते हैं। लेकिन,वह चार्जिंग पोर्ट आपके स्मार्ट-फोन का पूरा नियंत्रण ले सकता है और दुर्भावनापूर्ण कोड इंजेक्ट कर सकता है।

इस प्रकार, सार्वजनिक चार्जिंग स्पॉट उपयोगकर्ताओं के लिए वरदान और विपत्ति दोनों हैं। जब हमारे मोबाइल फोन की बैटरी खत्म हो जाती है, तो ये एक बड़ी मदद करते हैं, लेकिन ये हमारे उपकरणों में मैलवेयर स्थापित करके गोपनीय डेटा भी चुरा सकते हैं।

सार्वजनिक यूएसबी चार्जिंग पोर्ट से समझौता करने के लिए आवश्यक तकनीक आसानी से उपलब्ध है और इसलिए जूस जैकिंग का खतरा बहुत वास्तविक है।

जूस जैकिंग एक साइबर हमला तकनीक है जिसमें स्मार्ट-फोन चार्ज कियोस्क का उपयोग यूएसबी चार्जिंग पोर्ट का इस्तेमाल करके मैलवेयर इंस्टॉल करने के लिए किया जाना शामिल है। इसके बाद, मैलवेयर फोन के सारे डेटा को गुप्त रूप से कॉपी कर लेता है।

जनपद चमोली पुलिस ने जूस जैंकिंग के खतरे से और डिवाइसिस (उपकरणों) को जूस जैकिंग से बचाने के लिए सावधानियां बताई हैं। 

• अपने फ़ोन को तृतीय पक्ष प्रणाली का उपयोग करके चार्ज न करें: जैसे की सार्वजनिक स्थानों पर उपलब्ध चार्जिंग पॉइंट।

• अपना निजी चार्जर लेकर जाएं: आज के चार्जर बहुत छोटे, पोर्टेबल डिवाइस हैं और उन्हें आसानी से लेकर जाया जा सकता है।

• डीवाइसिस (उपकरणों) को खाली समय में चार्ज करें: जब आप सक्रिय रूप से इसका उपयोग नहीं कर रहे हों तो आपको अपने फोन को घर या कार्यालय में चार्ज करने की आदत डालनी चाहिए।

• फ़ोन को पावर (बिजली सप्लाई) से हटा दें: यह जूस जैकिंग को रोकता है लेकिन केवल मॉडल के आधार पर। ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ फोन में, फोन को स्विच ऑफ करने के बाद भी, यह पूरे यूएसबी सर्किट पर पावर दे सकता है और डिवाइस में फ्लैश स्टोरेज तक पहुंच की अनुमति देता है। 

• फोन को लॉक करें: यह फोन को उस डिवाइस के साथ युग्मित होने से रोक देता है, जब तक कि सही पिन या पास-कोड प्रदान नहीं किया जाता है।

• केवल यूएसबी केबल पावर्स का उपयोग करें: इन केबलों में डेटा ट्रांसमिशन के लिए आवश्यक दो तार नहीं होते हैं और बिजली ट्रांसमिशन के लिए केवल दो तार ही होते हैं। इस प्रकार, ये डिवाइस को चार्ज करने में सक्षम करते हैं, लेकिन डेटा ट्रांसफर को नहीं। जानकार बनें,सतर्क रहें, सुरक्षित रहें।