ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
कविता
March 9, 2020 • Naresh Rohila • सप्तरंग

विश्व का आधार नारी

 सुशीला रोहिला,सोनीपत

 महिला दिवस का जश्न 
   विश्व चेतना का जागरण 
   महिला पीड़ा का हो हरण 
   मिलकर सब करें निराकरण

     महिला का रूप अनोखा 
     बाला -बहन और माता 
     पल -पल हर दिनों- दिन 
     सबके सुख का रखें ध्यान 

   नारी की कोख जन्मती है
   सदगुरु सन्त- भक्त नारायण 
   देशभक्त की जननी नारी 
   करुणा दया भक्ति की धारा

     विश्व जन में भाव हो ऐसा
     माता -पिता की हो पूजा
     मन का दर्पण सबका हो स्वच्छ 
     माता -पिता गृहाश्रम की हो पूजा

    बलात्कार की बलि करो बंद
    चित में हर नर का हो यह प्रण
    महिला दिवस का है यह उपहार 
    हर घर में नारी का हो सम्मान 
    नारी है विश्व का आधार ।