ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
केदारनाथ में भैरव बाबा की पूजा, माणा में श्री घंटाकर्ण के कपाट खुले
June 15, 2020 • Naresh Rohila • धर्म-संस्कृति

लोक-मंगल कामना के साथ बाबा

भैरवनाथ की पूजा एवं यज्ञ संपन्न

एसके विरमानी द्वारा /केदारनाथ। श्री केदारनाथ धाम में तीर्थ पुरोहित समाज एवं देवस्थानम बोर्ड के तत्वाधान में श्री भैरवनाथ जी की पूजा हुई तथा यज्ञ में आहुतियां दी गयी।

इस दौरान लोक मंगल की कामना की गयी तथा कोरोना महामारी के संकट की समाप्ति हेतु बाबा भैरवनाथ से प्रार्थना की गयी।

प्रत्येक वर्ष आषाढ़ संक्रांति के दिन श्री केदारनाथ धाम के रक्षक भकुंड भैरव जी की पूजा एवं हवन - यज्ञ किया जाता है इसी क्रम में तीर्थ पुरोहितों ने प्रात: भगवान भैरवनाथ जी के मंदिर में पूजा-अर्चना की तथा प्रात: आठ बजे से श्री केदारनाथ मंदिर के सामने बने हवन कुंड में यज्ञ शुरू हुआ तथा दो बजे दिन में यज्ञ का समापन हुआ। केदारनाथ तीर्थ पुरोहित समाज की तरफ से श्री केदारसभा के अध्यक्ष विनोद शुक्ला, पूर्व अध्यक्ष किशन बगवाड़ी, राजकुमार तिवारी,पंथेर शंभू जमलोकी, प्रियधर जमलोकी सहित 18 तीर्थ पुरोहितों ने यज्ञ में आहुतियां दी

देवस्थानम बोर्ड की ओर से केदारनाथ मंदिर के मुख्य पुजारी शिवशंकर लिंग, वेदपाठी यशोधर मैठाणी, यज्ञ हेतु देवस्थानम बोर्ड की ओर से मुख्य यजमान प्रशासनिक अधिकारी यदुवीर पुष्पवान, श्री भैरवनाथ जी के पश्वा अरविंद शुक्ला, प्रबंधक प्रदीप सेमवाल, पोतित मृत्युंजय हीरेमठ आदि शामिल हुए।

माणा में क्षेत्रपाल श्री घंटाकर्ण

जी की जैठ पुजे

श्री बदरीनाथ धाम के निकट सीमांत ग्राम माणा में भगवान बद्री विशाल के रक्षक क्षेत्रपाल श्री घंटाकर्ण जी के मंदिर के कपाट खुल गये हैं।इस दौरान घंटाकर्ण भगवान की पूजा अर्चना हुई तथा लोक कल्याण की कामना की गयी। 

 जैठ पुजे के पश्चात श्री घंटाकर्ण जी माणा गांव स्थित मंदिर में दर्शन देते है। परंपरागत रूप से संक्रांति के अवसर पर भगवान घंटाकर्ण की पूजा का उत्सव "जैठ पुजै" धूमधाम से मनाया जाता है। इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते उत्सव को सूक्ष्म रूप मनाया जा रहा है। 

इस दौरान पूर्व प्रधान पीतांबर मोल्फा एवं श्री घंटाकर्ण जी के पश्वा सहित श्रद्धालुगण तथा बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल आदि मौजूद रहे।