ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
नई शिक्षा नीति में नवाचार और रोजगार पर विशेष ध्यान : निशंक
February 17, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स


वरिष्ठ संवाददाता /हरिद्वार। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का कहना है कि नई शिक्षा नीति में भारतीयता के साथ ही नवाचार और रोजगार पर विशेष ध्यान दिया गया है। जल्द ही शिक्षा नीति देश के सामने होगी। सरकार शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर करने की दिशा में काम रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी भाषा किसी पर थोपी नहीं जाएगी। रविवार को प्रेस क्लब में आयोजित संवाद कार्यक्रम के दौरान मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता में लगातार सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों का वैश्विक स्तर का बनाने के लिए 20 विश्वविद्यालयों को चुना गया है। इन विश्वविद्यालयों को केंद्र सरकार मदद देगी। कहा कि भारत को शिक्षा के क्षेत्र में इतना मजबूत करना है कि आने वाले समय में विश्वभर के छात्र हिंदुस्तान में शिक्षा लेने के लिए आएं। राज्य सरकारों से भी शिक्षा को प्राथमिकताओं में शुमार करने को कहा गया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि स्कूल- कॉलेजों में शिक्षकों के खाली पदों को भरने के साथ ही सुविधाएं भी दी जा रही हैं। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय पर टिप्पणी करते हुए निशंक ने कहा कि यह एक संस्थान प्रतिष्ठित संस्थान है, जिसने देश को कई बड़ी शख्सियत दी हैं। बावजूद इसके कुछ अराजक तत्व यहां जहर घोलने का प्रयास कर रहे हैं, जिन्हें किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शोध के लिए संस्थानों को धन की कोई कमी नहीं आने दी जा रही है। नए शोधों को धरातल पर भी उतारा जाएगा, जिससे लोगों को इनका लाभ भी मिल सके। कि नई शिक्षा नीति में समान शिक्षा के तहत एक समान पाठ्यक्रम लागू करने पर भी विचार किया जा रहा है। इसके अलावा प्रारम्भिक शिक्षा मातृभाषा में हो ऐसा प्रयास भी किया जा रहा है। शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए सभी राज्यों से शिक्षकों के रिक्त पदों को भरे जाने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि देश के उच्च संस्थानों की शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के लिए काम किया जा रहा है। जेएनयू पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में डा.निशंक ने कहा कि जेएनयू अच्छा संस्थान है। संस्थान की छवि खराब करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि हरिद्वार को जाम से बचाने के लिए 4 हजार करोड़ की लागत से रिंग रोड़ का निर्माण कराया जाएगा। प्रदेश सरकार में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाओं पर पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि वे पार्टी कार्यकर्ता हैं। पार्टी ने जब भी जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी है। उन्होंने पूरी जिम्मेदारी से उसे निभाया है। इससे पहले पूर्व केंमानव संसाधन विकास मंत्री के प्रैस क्लब पहुंचने पर पत्रकारों द्वारा फूलमालाएं पहनाकर उनका स्वागत किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रैस क्लब अध्यक्ष राजेश शर्मा ने किया। इस दौरान वरिष्ठ पत्रकार कौशल सिखोला, पीएस चैहान, ब्रजेंद्र हर्ष, श्रवण झा, मुदित अग्रवाल, त्रिलोक चंद्र भट्ट, महेश पारीख, डा.हिमांशु द्विवेदी, मनीष कुमार, जोगेंद्र सिंह मावी, धर्मेन्द्र चैधरी, संदीप रावत, गोपाल रावत, राजकुमार, राहुल वर्मा, रामेश्वर शर्मा, कुलभूषण शर्मा, जहांगीर मलिक, रविन्द्र सिंह, लव शर्मा, अमरीश, तनवीर, राजन सहगल, शिवा अग्रवाल, शिवांग अग्रवाल, अहसान अंसारी, एमएस नवाज, फकीरा खान आदि पत्रकारों सहित संजय चोपड़ा, पंकज सहगल, संजय सहगल, रोहन सहगल, भाजपा विधायक संजय गुप्ता, जिला अध्यक्ष डा.जयपाल सिंह चैहान, पूर्व जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश जमदग्नि आदि सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।