ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
परिवहन व्यवसाय से जुड़े लोगों ने विस अध्यक्ष से लगाई से सहायता की गुहार
May 6, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

भारत नमन ब्यूरो /ऋषिकेश 6 मई। कोरोना महामारी में लॉकडाउन के दौरान देश एवं प्रदेश में यातायात व्यवसाय खत्म हो गया जिस कारण टैक्सी, टेम्पो, बस, ट्रक एवं अन्य यातायात साधनों के व्यवसाय से अपना जीवन यापन करने वाले लोगों के समक्ष रोज़ी रोटी का गहरा संकट उत्पन्न हो गया है।इस संबंध में आज आर्थिक कठिनाई से जूझ रहे यातायात परिवहन व्यवसाय से जुड़े विभिन्न यूनियन एवं संघों के पदाधिकारियों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल के समक्ष सहायता की गुहार लगाई गयी।

आज विधानसभा अध्यक्ष के ऋषिकेश स्थित कैंप कार्यालय में संयुक्त यातायात रोटेशन, विक्रम मालिक महासंघ, जीप यूनियन, टैक्सी यूनियन, ट्रक एसोसिएशन, टेंपो यूनियन एवं ऑटो यूनियन के पदाधिकारियों ने विधानसभा अध्यक्ष से मिलकर लॉकडाउन के कारण होने वाली समस्याओं विधानसभा अध्यक्ष को अवगत कराया इस दौरान यूनियन के पदाधिकारियों द्वारा सरकार के समक्ष उनकी मांगों को रखने के लिए विधानसभा अध्यक्ष से आग्रह किया गया।

इस अवसर पर संयुक्त यातायात रोटेशन के अध्यक्ष मनोज ध्यानी ने कहा की कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के दौरान हजारों वाहन चालक और वाहन स्वामी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं।महामारी ने टैक्सी के कारोबार को बिल्कुल शून्य पर लाकर छोड़ दिया है। इससे उबरने में करीब एक से दो साल और उससे ज्यादा का समय भी लग जाएगा। इससे उबर पाना इस कारोबार के लिए बहुत मुश्किल है। उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसी योजना बनानी चाहिए ताकि यह कारोबार भी जिंदा रह सके।ऐसे में उत्तराखंड सरकार को चालक व मालिकों को आर्थिक मदद उपलब्ध करानी चाहिए। साथ ही एक साल तक टैक्स अदायगी पर भी रोक लगायी जानी चाहिए। उन्होंने बताया कि साल 2013 में आयी आपदा के दौरान भी सरकार ने टैक्स अदायगी पर रोक लगायी थी। कोरोना संकट में भी सरकार को टैक्सी चालकों व मालिकों की मदद के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए।

वहीं विक्रम मालिक महासंघ के अध्यक्ष विनय सारस्वत ने कहा कि  वाहनों के संचालन से उनके परिवार का पालन पोषण होता है, लेकिन अब वाहनों की आवाजाही ठप हो गई है। उनको वाहन का लोन, टैक्स, बीमा व फिटनेस की राशि चुकाने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।उन्होंने कहा कि परिवहन व्यवसाय में लोगों द्वारा लिए गए लोन पर सरकारी बैंक अथवा प्राइवेट बैंक द्वारा 6 महीने तक किश्त में छूट मिलनी चाहिए।

गढ़वाल ट्रक एसोसिएशन के अध्यक्ष दिनेश बहुगुणा ने कहा कि सरकार द्वारा सभी चालक एवं परिचालकों को आर्थिक सहायता प्रदान की जानी चाहिए साथ ही उन्हें अपना परिवार पालन करने के लिए खाद्यान्न सामग्री भी दी जानी चाहिए।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने सभी यातायात व्यवसाय से जुड़े यूनियन के अध्यक्षों को हर प्रकार का सहयोग देने का आश्वासन दिया। श्री अग्रवाल ने कहा कि यातायात व्यवसाय से जुड़े लोगों एवं चालक व परिचालकों की समस्याओं को लेकर वह जल्द ही मुख्यमंत्री से बात करेंगे।श्री अग्रवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान समाज के प्रति व्यक्ति के सामने एक  संकट पैदा हुआ है जिससे प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी रूप से प्रभावित हुआ है।श्री अग्रवाल ने विश्वास जताया कि जल्द ही संकट खत्म होगा एवं लोगों की जिंदगी एवं जीवन यापन पुनः पटरी पर उतरेगी।

इस अवसर पर मनोज ध्यानी अध्यक्ष संयुक्त यातयात रोटेशन, विनय सारस्वत विक्रम मालिक महासंघ अध्यक्ष, भगवान सिंह राणा अध्यक्ष जीप यूनियन ,विजय पाल रावत अध्यक्ष टैक्सी यूनियन, दिनेश बहुगुणा अध्यक्ष गढ़वाल ट्रक एसोसिएशन, फेरू जगवानी अध्यक्ष टेम्पू यूनियन,धर्मेंद्र कुमार पाल अध्यक्ष ऑटो यूनियन , प्रकाश जाटव, बलबीर सिंह नेगी, सुरेंदर सिंह, राजेन्द्र लाम्बा अध्यक्ष थ्री व्हीलर यूनियन, छोटे लाल, शिव कुमार गौतम पार्षद, प्रवीण नौटियाल, मंजीत सिंह  सहित अन्य लोग उपस्थित थे।