ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के हित में ऐतिहासिक काम किया :निशंक
October 5, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

कृषि विधेयक किसानों की आय दोगुनी करने में मील का पत्थर साबित होंगे 

bharatnaman.page /हरिद्वार। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संसद में केंद्र सरकार ने जो किसानों के हित में 3 विधेयक पास किए वह ऐतिहासिक है और आजादी के बाद देश में पहली बार संसद ने किसानों के हित में एक नहीं तीन-तीन बिल पास किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने का है और उस दिशा में यह तीनों विधेयक एक मील का पत्थर साबित होंगे।

डाॅ निशंक यहां केंद्रीय मेला नियंत्रण कक्ष में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। निशंक किसानों के मुद्दे को लेकर विशेष रूप से हरिद्वार आए और उन्हें पत्रकारों से इस मुद्दे पर खुलकर बातचीत की। कांग्रेस पर कृषि विधेयकों के मुद्दे पर हमलावर होते हुए डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि कांग्रेस कृषि विधेयक पर दोगला रवैया अपना रही है और किसानों को गुमराह कर रही है।कांग्रेस ने किसानों के नाम पर हमेशा घोटाले किए हैं। कांग्रेस के राज में सबसे ज्यादा खेती को लेकर घोटाले किए गए ।कांग्रेस की वजह से किसानों की आर्थिक हालात बिगड़े। अब जब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार किसानों के आर्थिक हालात सुधारने के लिए सुधारात्मक कदम उठा रही है तो कांग्रेस उनका विरोध कर रही है और दोहरा रवैया अपना रही है। देश का किसान कांग्रेस की असलियत को समझ गया हैं,इसलिए कांग्रेस को इस मुद्दे पर जन समर्थन नहीं मिल रहा है। केन्द्रीय मंंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने 2013 में कांग्रेस ने घोषणा की थी कि कांग्रेस शासित राज्यों में फल और सब्जियों पर एमपीएमसी एक्ट हटाया जाएगा और 2019 के चुनावी घोषणा पत्र में कांग्रेस ने कहा था कि वह सत्ता में आने पर एमपी एमसी को हटाएंगे। परंतु अब जब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने इस एक्ट को हटाने के लिए संसद में 3 विधेयक पास करवाए तो कांग्रेस के सांसदों ने उसका संसदीय मर्यादाओं को धता बताते हुए पर विरोध किया। कांग्रेस जनता में भ्रम पैदा कर रही है। निशंक ने कहा कि अब किसान पूरे देश में कहीं भी उचित मूल्य पर अपनी फसलों को बेच सकेंगे और उन्हें पहले से ज्यादा दाम अपनी फसलों पर मिलेंगे। जिससे उनकी आर्थिक स्थिति और अधिक मजबूत होगी और किसानों का अपनी फसलों में मुनाफा और अधिक बढ़ेगा। साथ ही उनकी फसलों की न्यूनतम मूल्य सरकारी खरीद की व्यवस्था भी बनी रहेगी। निशंक ने कहा कि इसके अलावा किसानों को खेती के लिए अत्याधुनिक तकनीक का भी फायदा मिलेगा। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किसानों का सबसे बड़ा शुभचिंतक और फरिश्ता बताया। जिन्होंने 2014 से लेकर अब तक किसानों के हितों के लिए कई कारगर कदम उठाए और किसानों को अब अपनी फसलों को भंडारण और बिक्री की आजादी प्रदान कर बिचैलियों के चंगुल से मुक्त कराया। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 92 हजार करोड़ रुपए सीधे किसानों के खाते में डाले हैं और किसानों की पेंशन 3000 रुपए की है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों के हितों के लिए आत्मनिर्भर भारत के तहत एक हजार करोड रुपए का किसान पैकेज जारी किया है। साथ ही किसानों के लिए 15 लाख करोड़ रुपए की ऋण की व्यवस्था भी है। निशंक ने प्रेस वार्ता से पूर्व हर की पैड़ी का भी निरीक्षण किया और वहां चल रहे कुंभ कार्यों का भी अवलोकन किया और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

हर की पैड़ी का निरीक्षण, भव्य रूप देने के निर्देश 

इस बीच केन्द्रीय मंत्री डाॅ0 रमेश पोखरियाल निशंक ने हरकी पौड़ी पर चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे हरकी पौड़ी का भव्य नक्शा तैयार कर उन्हें दिखायें। अधिकारियों ने केन्द्रीय शिक्षा मंत्री को बताया कि पूरी हरकी पौड़ी की लैण्डसकेपिंग की जा रही है तथा पूरे में नई टाइल्स लगाने का कार्य तेजी से चल रहा है। डाॅ0 रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि हर की पौड़ी का ऐसा भव्य स्वरूप तैयार करिये कि माॅ गंगा की आरती में एक लाख से अधिक श्रद्धालु भाग ले सकें। उक्त दौरान विधायक सुरेश राठौर, प्रदीप बत्रा, कुंवर प्र्रणव सिंह ’चैम्पियन’, देशराज कर्णवाल, श्री गंगा सभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, महामंत्री तन्मय वशिष्ठ, मेलाधिकारी दीपक रावत, मुख्य विकास अधिकारी विनीत तोमर, अपर मेलाधिकारी ललित नारायण मिश्र सहित अन्य जन-प्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित थे