ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
सड़क निर्माण कार्यो में तेजी लायें :डीएम
July 7, 2020 • Naresh Rohila

 भारत नमन ब्यूरो /देहरादून। '‘सड़क निर्माण कार्यों में तेजी लायें’’ यह निर्देश जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कलेक्ट्रेट  सभागार में लोक निर्माण विभाग और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक के दौरान दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि जितनी भी सड़कों का निर्माण अथवा सुधारीकरण किया जाना है उनमें तेजी से कार्य को पूरा करें। उन्होंने कहा कि देहरादून शहर से लगी हुई मुख्य सड़कें, रिंग रोड, इत्यादि के सम्बन्ध में जो भी प्रक्रिया अभी तक लम्बित हैं उनका तेजी से निस्तारण करें। उन्होंने वन विभाग को निर्देशित किया कि सड़क निर्माण में वन विभाग के स्तर पर अनापत्ति से सम्बन्धित यदि कोई प्रकरण लम्बित हो तो उसका तेजी से निराकरण करें। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिये कि हरिद्वार बाईपास रोड एवं शिमला बाईपास रोड जिनका कि चैड़ीकरण किया जाना है, उसका भी प्रस्ताव यथाशीघ्र तैयार कर शासन को प्रेषित किया जाय।

जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि कालसी-चकराता-त्यूनी , चकराता-लाखामण्डल, चकराता-नागथात-मसूरी जैसे पहाड़ी रूट पर मलवा आने से बाधित होने वाले सड़क मार्ग घण्टों के भीतर खुल जाय, इसके लिए पहले से ही अपने संसाधनों की क्षेत्र में तैनाती रखें। उन्होंने कहा कि यदि सड़क पर कोई बड़ा निर्माण कार्य ना किया जाना हो और केवल मलवा (स्लीप) हटाना भी हो तो मलबे को हटाने का कार्य तत्काल पूरा हो इसमें किसी प्रकार की हीलाहवाली नही होंनी चाहिए। 

जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के विभिन्न डिविजनों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में ऐसी सड़कें जो विभिन्न कारणों से लम्बे समय से लम्बित पड़ी हैं जैसे विभागीय स्तर पर की जाने वाली प्रक्रिया अथवा वन विभाग की मंजूरी के चलते लटकी पड़ी हैं अथवा शासन स्तर पर प्रशासनिक अथवा अन्य स्वीकृति इत्यादि के चलते लम्बित पड़ी जितनी भी सड़के हैं उन सबका विवरण प्रस्तुत करें, ताकि उन सड़कों पर भी त्वरित संज्ञान लिया जा सके। 

इस अवसर पर बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, डीएफओ देहरादून राजीव धीमान, सचिव एमडीडीए गिरिश चन्द्र गुणवंत, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग जे.एस चौहान, सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे। 

 'जल जीवन मिशन कार्यो को समय से पूरा करें' 

देहरादून। उत्तराखण्ड पेयजल निगम एवं जल संस्थान की ओर से प्रायोजित कार्यक्रम जल जीवन मिशन की समीक्षा बैठक जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने जल संस्थान एवं पयेजल निगम के अभियन्ताओं को सरकार के इस कार्यक्रम में तेजी लाने के साथ ही निर्धारित समयावधि में शासकीय दिशा-निर्देशों के अनुसार  इसे पूरा करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने ग्रामीण क्षेत्रों के लिए प्रयोजित जल जीवन मिशन के तहत् विधानसभा क्षेत्र डोईवाला के कार्य इस वर्ष में पूर्ण करने के निर्देश दिये। कहा कि स्वयं सेवी संस्थाओं के माध्यम से हर हाल में सहसपुर, कालसी एवं चकराता के ग्रामीण क्षेत्रों का सर्वे कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि योजना के तहत् परिवार के प्रत्येक सदस्य को 55 ली0 पेयजल मुहैया कराया जाना है। कहा कि जीवन मिशन  के कार्यों की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए पेयजल के कार्यों को तीव्रगति से चलाया जाय। उन्होंने पेयजल निगम एवं जल संस्थान के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत पेयजल योजनाओं कीे डीपीआर जुलाई माह में ही तैयार कर  दिशा-निर्देशों के अनुरूप समिति के समक्ष प्रस्तुत करें ताकि समिति तत्काल निर्णय ले सके। उन्होंने कहा कि रिस्पना  एवं बिन्दाल की सीवरेज के सम्बन्ध में एमडीडीए आवश्यक वार्ता कर सहमति उपरान्त ही सर्वे का कार्य सुनिश्चित करें।

जल जीवन मिशन के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए पेयजल अभियन्ताओं ने अवगत कराया कि वर्तमान में डोईवाला क्षेत्र की 28470 ग्रामीण आबादी पेयजल की आपूर्ति कर 37 प्रतिशत् प्रगति प्राप्त की गई है तथा वर्ष के अन्त तक सभी परिवारों को पेयजल मुहै्या कराया जायेगा। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितका खण्डेलवाल, अधिशासी अभियंता जल संस्थान नमित रमोला, यशवीर मल्ल, आर.के रोहिला, अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम मीसा सिन्हां समेत जल निगम एवं जल संस्थान के अभियन्ता उपस्थित रहे।