ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
सरकार बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए बजट की कमी नहीं होने देगी : डाॅ धन सिंह
August 17, 2020 • Naresh Rohila

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार ) ने ली श्रीनगर क्षेत्र की स्वास्थ्य समस्याओं पर बैठक 

SK Virmani /देहरादून,। विधानसभा स्थित कार्यालय में सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने आज श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ करने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में सभी चिकित्सा केंद्र को अपग्रेड करते हुए आवश्यक सुविधाएं जुटाई जा रही है। सरकार बेहत्तर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए बजट की कोई कमी नहीं होने देगी। 

बैठक में डाॅ. रावत ने श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत अस्पतालों में चिकित्सा संसाधन एवं उपकरणों की उपलब्धता, चिकित्सकों की कमी और निर्माणाधीन हेल्थ वैलनेस सेन्टर्स की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि क्षेत्र में स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों को समाधान किया जाय। उन्होंने कहा कि जिन अस्तपालों में चिकित्सकों व अन्य स्टाॅफ एवं सफाईकर्मी की कमी है वहां तत्काल संबंधित की तैनाती सुनिश्चित की जाय। निर्माणाधीन हेल्थ वैलनेस सेन्टर्स की समीक्षा के दौरान डाॅ. रावत ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत पौखाल, पल्लीसैंण, चैंरीखाल व जसपुर में हेल्थ वैलनेस सेन्टर्स के लिए भूमि उपलब्ध करा दी जायेगी। इसके अलावा उन्होने कहा कि पाबौं, खिर्सू एवं थलीसैंण विकासखंडों में जहां भी विभागीय भवन उपलब्ध हैं वहां भी वैलनेस सेंटर्स शुरू किये जाय। ताकि वर्तमान परिस्थियों में स्थानीय लोगों वैलनेस सेंटर्स पर आवश्यक चिकित्सा सुविधा मिल सके। बैठक में उन्होने एनएचएम के तहत संचालित स्वास्थ्य योजनाओं की भी समीक्षा की। 

बैठक में प्रभारी सचिव स्वास्थ्य डाॅ. पंकज पांडे, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग डाॅ. अमिता उप्रेती, मिशन निदेशक (एनएचएम) सोनिका, निदेशक स्वास्थ्य डाॅ. एस.के. गुप्ता, सीएमओ पौड़ी गढ़वाल डाॅ. मनोज बहुखंडी, डीपीएम मिशन राजीव रावत, अधिशासी अभियंता यूपी जल निगम जितेंद्र जौहरी सहित कई अधिकारी उपस्थित रहे।