ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
श्रीनगर में रेलवे का 52 बेड का अस्पताल जल्द राज्य को मिलेगा : डाॅ धन सिंह
August 18, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

एसके विरमानी /देहरादून। सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत की अध्यक्षता में आज ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के अंतर्गत श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र के काश्तकारों/कृषकों के मुआवजा स्वीकृति एवं सीएसआर फंड के तहत स्वीकृत विकास कार्यो की प्रगति को लेकर विधानसभा स्थित कार्यालय कक्ष में समीक्षा बैठक की गई। बैठक के उपरांत सहकारिता मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने बताया कि रेलवे द्वारा श्रीनगर में 52 बेड का अस्पताल बन चुका है जो शीघ्र ही राज्य के स्वास्थ्य विभाग को मिल जायेगा। इसके अलावा श्रीकोट में एक हजार क्षमता वाला स्टेडियम का निर्माण किया जायेगा, जो आधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा। 

समीक्षा बैठक के दौरान एडीएम पौड़ी एवं पुनर्वासन, पुनस्र्थापन नोडल अधिकारी डाॅ. एस.के. बरनवाल ने बताया कि श्रीनगर विधानसभा के अंतर्गत आने वाले प्रभावित गांवों डुंग्रीपंत, स्वीत, दिखोल्यूं, भामक, श्रीकोट, कोटड़, मल्यागांव, पुराना श्रीनगर आदि के काश्तकारों एवं क्षेत्रवासियों की मांग के अनुसार सीएसआर फंड के अंतर्गत पूर्व में चिन्हित कार्य किये जा रहे है। वहीं उन्होंने बताया कि सभी प्रभावितों को मानकों के अनुरूप मुआवजा वितरण का कार्य भी जारी है। 

बैठक में रेल विकास निगम लि0 के ए.जी.एम. विजय डंगवाल, ए.जी.एम. (प्रोजेक्ट) सुरेंद्र कुमार, एडीएम पौड़ी/नोडल अधिकारी डाॅ. एस. के. बरनवाल, उत्तराखंड पेयजल निगम के महाप्रबंधक गढ़वाल ए.जे.पी. डोबरियाल, उत्तराखंड पेयजल निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर राकेश चंद्र तिवारी, एक्जीक्यूटिव आॅफिसर नगर पालिका श्रीनगर राजेश नैथानी, राहुल कुमार सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। 

डाॅ धन सिंह रावत ने  की सहकारी समितियों की समीक्षा 

उधमसिंह नगर में 10 और नैनीताल में 5 एफपीओ खोले जाने पर सहमति 

देहरादून। विधानसभा स्थित कार्यालय कक्ष में आज सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने नैनीताल एवं ऊधम सिंह नगर जिले के बहुउद्देशीय सहकारी समितियों की समीक्षा की। बैठक में समितियों को व्यावसायिक गतिविधियां बढ़ाने के साथ ही ऊधम सिंह नगर में 10 व नैनीताल में 5 किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) खोले जाने पर सहमति बनी। इसके साथ ही निर्णय लिया गया कि जो समितियां लाभ में चल रही हैं वह एफपीओ की स्थापना एवं अन्य व्यावसायिक गतिविधियों के लिए भूमि क्रय कर सकते हैं, जिसके लिए विभागीय स्तर पर दोनों उप निबंधक की अध्यक्षता में समितियां गठित की जायेगी।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए विभागीय मंत्री डाॅ. रावत ने कहा कि जो समितियां घाटे में चल रही हैं उनको लाभ में लाने के लिए व्यावसायिक गतिविधियां बढ़ाने के साथ ही कृषक एवं गैर कृषक सदस्यता बढ़ाने पर भी जोर दिया जाय। इसके अलावा सरकार द्वारा संचालित विभिन्न स्वरोजगार योजनाओं के तहत तथा पूर्व से संचालित योजनाओं के अंतर्गत किसानों को निश्चित समय सीमा के अंदर सुलभता के साथ ऋण वितरण किया जाय। बैठक में जनपद नैनीताल की 52 समितियों एवं ऊधमसिंह नगर की 35 समितियों की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद ऊधम सिंह नगर में 32 समितियां लाभ में चल रही है जबकि नैनीताल की सभी 52 समितियां लाभ में चल रही हैं। विभागीय मंत्री ने कहा कि जो समितियां स्वायत्ता चाहती है वह अपने बोर्ड के माध्यम से प्रस्ताव जिला सहायक निबंधक को प्रस्तुत कर सकते हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन समितियों के भवनों की स्थिति जर्जर हो चुकी है वह मरम्मत का प्रस्ताव बोर्ड के माध्यम से विभाग को उपलब्ध कराये। 

बैठक में उत्तराखंड राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष दान सिंह रावत, जिला सहकारी बैंक ऊधम सिंह नगर के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह मानस, निबंधक सहकारिता बी.एम. मिश्रा, अपर निबंधक ईरा उप्रेती, उप निबंधक कुमाऊं मंडल नीरज बेलवाल, महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक नैनीताल पीसी दुमका, उप महाप्रबंधक सहकारी बैंक ऊधम सिंह नगर रामयज्ञ तिवारी, जिला सहायक निबंधक ऊधम सिंह नगर हरीश चंद्र खंडूडी, जिला सहायक निबंधक नैनीताल बलवंत सिंह मनराल, अपर जिला सहकारी अधिकारी ऊधम सिंह नगर विनोद चैधरी, अपर जिला सहकारी अधिकारी नैनीताल पन्नालाल, सहित कई अधिकारी उपस्थित रहे।