ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
स्ट्रीट वेंडर्स को बिना ब्याज 10 हजार का ऋण मिलेगा
August 28, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

डीएम की उपस्थिति में पीएम स्ट्रीट वेंडर्स योजना पर कार्यशाला 

योजना का उद्देश्य अंतिम छोर के व्यक्ति को लाभ पहुंचाना:विनीत कुमार 

भारत नमन ब्यूरो /बागेश्वर। जनपद में पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) योजना  का लाभ पात्र व्यक्तियों को उपलब्ध कराने के उद्देश्य से विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी विनीत कुमार की उपस्थिति में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि पीएम स्ट्रीट वेडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) योजना भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना हैं, जिसका मुख्य उद्देश्य अंतिम छोर के व्यक्ति को योजना से लाभान्वित करना हैं। उन्होने कहा कि वर्तमान समय में कोराना संक्रमण से लॉकडाउन के कारण पथ विक्रेताओं के व्यापार पर काफी असर पडा हैं, जिससे पथ विक्रेता को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से उनके व्यवसाय के लिए पीएम स्वनिधि येाजना से 10 हजार ऋण का प्रावधान किया गया हैं, जिसमें ब्याज अनुदान केंद्र सरकार द्वारा सात प्रतिशत तथा राज्य सरकार द्वारा अतिरिक्त दो प्रतिशत दिया जायेगा, इसमें पथ व्यवसाय को कोई  ब्याज नही देना पडेगा। उन्हें केवल ऋण की ही राशि मासिक किस्तों में देनी होगी। उन्होने यह भी कहा कि इस योजना में डिजिटल लेने-देने की भी सुविधा उपलब्ध करायी गयी हैं, जिसके तहत महीने में दो सौ लेन-देने करने पर 100 रूपयें का कैश बैक भी उपलब्ध होगा जिसका लाभ एक वर्ष तक मिलेगा। उन्होने कहा कि इस योजना से जनपद में कोई भी पात्र व्यक्ति वंचित न रहें इसके लिए उन्होने नगर पालिका एवं नगर पंचायत क्षेत्र में पुन: सर्वे कराते हुए पथ व्यवसायों का चिन्हिकरण करने के निर्देश दियें। इसके लिए उन्होने संबंधित अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से अपेक्षा की हैं कि उनके आस-पास जो भी पथ व्यवसाय हैं यदि उनका चिन्हिकरण नहीं हुआ हैं, तो उनका चिन्हिकरण कराना भी सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि इस योजना के तहत केवल 34 ही आवेदन पत्र उपलब्ध हुए हैं जिसमें से आठ व्यक्तियों के आवेदन स्वीकृत हुए हैं। उन्होने पथ व्यवसायों से अपेक्षा की कि वे अधिक से अधिक व्यवसाय इस योजना लाभ उठाते हुए आवेदन करें। इसके लिए उन्होने संबंधित बैंको के अधिकारियों को निर्देश दियें हैं कि इस योजना के तहत जो भी आवेदन पत्र प्राप्त होते हैं उन पर समय सीमा के अंतर्गत कार्यवाही करना सुनिश्चित करें, ताकि इसका लाभ पात्र व्यक्ति को उपलब्ध कराते हुए सरकार की मंशा को पूर्ण किया जा सकें।

कार्यशाला में पीएम स्ट्रीट वेडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) योजना  की विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए कैलाश प्रकाश चंदोला व आलोक पांडे ने बताया कि इस योजना के तहत पथ व्यवसायों के आजिविका संवर्द्धन हेतु बैंकिंग व्यवस्था से जुडाव/डिजिटल लेन-देन हेतु प्रोत्साहित बैंकिग वैडिंग सार्टिफिकेट आई डी कार्ड के माध्यम से पहचान तथा भारत सरकार द्वारा पूर्ण वित्त पोषित योजना के तहत पात्र पथ विक्रेताओं को कार्यशील पूंजी के रूप में 10 हजार रूपये का ऋण प्राविधानित तथा ऋण अवधि एक वर्ष के लिए, मासिक ऋण वापसी की सुविधा, ब्याज अनुदान आधारित ऋण, बिना प्रतिभूति/जमानत के ऋण (कोलेट्रल रहित) तथा डिजिटल लेन-देन को प्रोत्साहन, कैश बैक की सुविधा, ससमय या जल्द ऋण वापसी पर अगले अधिक कार्य शील पूंजी ऋण की सुविधा है। इस योजना का लाभ 24 मार्च, 2020 से पूर्व के उन समस्त पथ विक्रेताओं को मिलेगा जिनको नगर निकाय द्वारा विक्रय प्रमाण पत्र तथा पहचान पत्र जारी कियें गयें हैं। पथ विक्रेताओं जो सर्वे के माध्यम से चिन्हित कियें गये हैं परन्तु उनको विक्रय प्रमाण पत्र तथा पहचान प्रमाण पत्र जारी नहीं कियें गयें हैं ऐसे पथ विक्रेताओं को नगर पालिका द्वारा 15 दिनों के अंदर विक्रय प्रमाण पत्र तथा पहचान पत्र उपलब्ध करायें जायेंगें। आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गयी।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डी0डी0पंत, उपजिलाधिकारी बागेश्वर राकेश चन्द्र तिवारी, कपकोट प्रमोद कुमार, लीड बैंक अधिकारी, अधि0अधि0 नगर पालिका राजदेव जायसी, सभासद नगर पालिका बागेश्वर नीमा दफौटी, धीरेन्द्र परिहार, मुन्नी मेहता, बबीता पांडे, नवीन आर्या, प्रेम सिंह हरडिया, कैलाश आर्या, संबंधित बैंको के बैंक प्रबंधक सहित पथ व्यवसायी मौजूद रहें।