ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
टिप्पणी
April 4, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

प्रकाश की एक किरण गहरे    अंधकार को मिटाती है  

 • सुशीला रोहिला

 प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  ने 5 अप्रैल  को रात्रि  9 बजे घर की लाइट बंद कर दीया या मोमबती  या मोबाइल की लाइट जलाने के लिए क्यों  कहा -
 उनके  कहने के पीछे  एक आध्यात्मिक कारण भी है । क्योंकि हमारे शरीर में 9 दरवाजे  है।( दो आख॔,  दो कान, नाक , मुंह ,हाथ ,पैर , उत्सर्जन, प्रजनन )   दसवाँ द्वार प्रकाश का है जो आत्मा  रूपी  के दीये के प्रकाश  से मन का अंधकार दूर होता है । यह आत्मा रूपी दीया का प्रकाश करने का तरीका  वर्तमान के सद्गुरु महाराज बताते है । वह मन को बाती को आत्म रूपी दीये से जोड़ कर अपनी कृपा  की तीली से  प्रज्वलित करते है  जिससे निजीस्वार्थ का अंधकार दूर होकर परमार्थ का ,सकारात्मकता ,साहब, धैर्य ,शारीरिक, मानसिक, आत्मिक  प्रकाश मिलता है ।

सभी देशवासियों को अपनी इमुनियटी शक्ति को एक दीपक के प्रकाश के माध्यम से बढ़ाना चाहिए जो हमारे पूर्वज,  ऋषि- मुनियों राजा , महाराजा करते थे । जब भी कोई  राजा महाराजा युद्ध में  जाते थे  थाली में  दीपक जलाकर और तिलक करके उनकी पत्नी  उन्हें भेजती थी । इसका यही प्रयोजन है कि उनमें सकारात्मक की उर्जा साहस का बल ,उत्साह का नूर , देशभक्ति की इच्छा शक्ति को बढ़ाने के लिए , भय से मुक्ति मिलती है । अध्यात्म रूप से  मन का तिमिर भी आत्मा का दीप जलने से ही समाप्त होता है और  निजी स्वार्थ से ऊपर उठने की शक्ति  प्राप्त होती है । निजी स्वार्थ का त्याग  मानव को देवता से भी ऊपर उठा देता है । इसलिए आइए हम सभी  5 अप्रैल  को रात्रि  9 बजे  घी या तेल का दीया जलाकर अपनी उर्जा शक्ति को बढ़ाए और राष्ट्र हित में अपना योगदान प्रदान करेंगे धन्यवाद ।

पांच अप्रैल ही क्यों  चुना

इसका प्रयोजन यह है कि हमारे अन्दर जो पाँच महामारी ( काम,  क्रोध , मोह ,लोभ ,अहंकार )  है जो बाहर के साधनों से दूर नहीं होती |