ALL करंट अफेयर्स राजनीति क्राइम खेल धर्म-संस्कृति हेल्थ खरीदारी-सिफारिश बातचीत सप्तरंग
उक्रांद ने उठाई कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग
June 5, 2020 • Naresh Rohila • करंट अफेयर्स

 पुलिस महानिदेशक को दिया ज्ञापन     

भारत नमन ब्यूरो /देहरादून। उत्तराखण्ड क्रांति दल ने प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। उत्तराखण्ड क्रांति दल ने राज्य के पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन देकर यह मांग की है। उत्तराखण्ड क्रांति दल के केन्द्रीय प्रवक्ता सुनील ध्यानी ने जानकारी दी कि दल के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन देकर बताया कि कोविड-19 महामारी वैश्विक रूप धारण कर चुका है।इस महामारी से उत्तराखंड भी अछूता नही है। कोविड-19 महामारी के दौरान आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लोकडावन उल्लंघन करने पर मुक़दमे दर्ज किये गये जिसमें हत्या व गैरइरादतन हत्या तक के मुकदमे हैं। दल का स्पष्ट मानना है कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत की जाने वाली कार्यवाही केवल आमजन के लिए है या लागू किये गये। रसूखदार लोगों को तो इस अधिनियम से दूर रखा जा रहा है, जो खेदपूर्ण है। ज्ञापन में कहा गया कि प्रदेश के काबीना मं सतपाल महाराज एवं उनके पूरे परिवार के सदस्यों तथा स्टाफ कोविड-19 की चपेट में आ चुके हैं, लेकिन हकीकत यह है कि श्री सतपाल महाराज द्वारा अपनी ट्रेवलिंग हिस्ट्री को छिपाया गया है। ज्ञापन में कहा गया कि 16 मई 2020 को सतपाल महाराज हरिद्वार से दिल्ली गये व 20 मई 2020 को वापस उत्तराखंड आये। इस बीच स्वयं सतपाल महाराज अपने विभागीय बैठकों एवं उनके परिवार के सदस्य चौबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र में जनसंपर्क में रहे। देहरादून जिला प्रशासन द्वारा  26 मई 2020 को सतपाल महाराज के निवास डालनवाला देहरादून में होम क्वारन्टीन चस्पा कर दिया गया।उनके द्वारा होम क्वारन्टीन का पूरा उल्लंघन किया गया क्योंकि 28 मई 2020 को वह कैबिनेट की बैठक में शामिल हुये जिससे लगभग पूरे मंत्रिमंडल से लेकर राज्य के मुख्य आला अधिकारियों को होम क्वारन्टीन होना पड़ रहा है।

उत्तराखंड क्रांति दल ने मांग की ट्रेवलिंग हिस्ट्री छिपाने और होम क्वारंटाइन का उल्लंघन किये जाने पर सतपाल महाराज के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाये। ज्ञापन देने वालों में सुनील ध्यानी,लताफत हुसैन,राजेन्द्र बिष्ट,राजेश्वरी रावत व अनुज रावत  शामिल थे।